badh gyi chuttiya ab 2 july ko bhi nhi khulega barabanki ka school

उत्तर प्रदेश सरकार के बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा बच्चों का ग्रीष्मकालीन अवकाश 2 जुलाई तक बढ़ाया गया 3 जुलाई से खुलेंगे प्रदेश के स्कूल!

मैं आप सभी को बता देना चाहता हूं कि barabanki समेत कई राज्यों में एक बार फिर से भीषण गर्मी के कारण गर्मी की छुट्टी में बदलाव हो गया है और उत्तर प्रदेश सरकार ने एक बार फिर से गर्मी की छुट्टियों को 2 दिन बढ़ा दिया है और आप सभी के स्कूल अब 3 जुलाई से खुलेंगे

barabanki summervacation

आपको बताते चलें कि उत्तर प्रदेश में अगर मौसम सही सुधार नहीं आता। तो सरकार के आदेश का इंतजार होगा। और प्रशासन का जो निर्णय होगा । स्कूल को उस पर अमल करना होगा । और अब बाराबंकी के सभी स्कूल 2 जुलाई तक बंद रहेंगे उन्हें 3 जुलाई से खोला जाएगा।


barabanki news 2

जिंदा होने का सर्टिफिकेट लेकर सरकारी कार्यालय के चक्कर लगा रही बुजुर्ग महिला, बाराबंकी में हैरान करने वाला केस

दरअसल यह मामला यूपी के बाराबंकी से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। कि यहां एक बुजुर्ग महिला अपने जिंदा होने का सर्टिफिकेट लेकर सरकारी कार्यालयों के चक्कर लगा रही है।

बाराबंकी barabanki

आपने नाजायज फिल्म का मशहूर गाना अभी जिंदा हूं तो जी लेने दो तो सुना होगा । इस फिल्म के गाने की लाइन यूपी में सरकारी सिस्टम की लापरवाही पर बिल्कुल सटीक बैठती है। उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले से ऐसा ही एक मामला सामने आया है। आरोप है कि यहां जीवित होते हुए भी एक बुजुर्ग महिला का मृत घोषित कर दिया गया अब पीड़ित महिला अपने जिंदा होने का प्रमाण लेकर सरकारी कार्यालयों के चक्कर काट रही है । वह कह रही है, कि मैंने ऐसा क्या गुनाह जीते जी मार डाला।

पूरा मामला बाराबंकी barabanki


दरअसल जिले के साथ सरकारी सिस्टम पर सवाल खड़े करने वाली या घटना सिरौलीगौसपुर तहसील क्षेत्र से सामने आई है । यहां के सेवड़ा गांव की बुजुर्ग महिला दशरथ देवी अपने जीवित होने के प्रमाण लेकर सरकारी कार्यालयों के चक्कर काट रहे दशरथ देवी अपना जीवन जीवित प्रमाण पत्र और अन्य कागजात लेकर सिरौलीगौसपुर के नायब तहसीलदार के पास पहुंची।

नायब तहसीलदार के पास पहुंचकर बुजुर्ग महिला ने अपने जीवित होने के प्रमाण दिखाएं। और कहा कि साहब अभी मैं जिंदा हूं। गुर्जर महिला दशरथ देवी का आरोप है कि जमीन हड़पने की नीयत से उनके परिवार वालों ने उनका फर्जी मृत्यु सर्टिफिकेट बनवाया। इसके बाद ने मृत घोषित कर दिया दशरथ देवी ने नायब तहसीलदार और अन्य अधिकारियों के सामने पहुंचकर न्याय की गुहार लगाई अधिकारी इस मामले में जांच के बाद कार्रवाई की बात कर रहे हैं । फिलहाल यह मामला क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है।