Barabanki news today –

5/5 - (8 votes)

अचानक आई बाढ़, ग्रामीण बंधे पर, दो को डूबने से बचाया

Barabanki (बाराबंकी)

सूरतगंज Barabanki (बाराबंकी)। रामनगर तहसील क्षेत्र में सरयू नदी के किनारे बसी हेतमापुर ग्राम पंचायत के मजरा उधिया में अचानक लाउडस्पीकर से एनाउंस होने लगा कि बाढ़ आ गई है। जलस्तर बढ़ रहा है। यह सुन नदी की ओर से आए एक दर्जन से अधिक ग्रामीणों को ट्रैक्टर-ट्राॅली में बैठा लिया गया। इस दौरान प्रधान प्रतिनिधि की सूचना पर दो ग्रामीणों को एसडीआरएफ ने डूबने से बचाया। बृहस्पतिवार को प्रशासनिक अमले ने बाढ़ को लेकर दो ग्राम पंचायतों में कुछ ऐसा ही मॉकड्रिल (पूर्वाभ्यास) किया।

सरयू नदी (बाराबंकी) Barabanki

सरयू नदी में हर साल आने वाली बाढ़ को लेकर बृहस्पतिवार को रामनगर तहसील क्षेत्र के सरसंडा व हेतमापुर ग्राम पंचायतों में मॉकड्रिल हुआ। सुबह नौ बजे ही रामनगर के एसडीएम अनुराग सिंह एसडीआरएफ, पुलिस, पीएसी, आपदा, स्वास्थ्य, पशुपालन, अग्निशमन समेत कई विभागों के अधिकारियों के साथ हेमतापुर के उधिया गांव पहुंच गए थे। बाढ़ की घोषणा के बाद से गांव छोड़कर नदी किनारे आए ग्रामीणों व उनके बच्चों को ट्रैक्टर-ट्राॅली से गांव के पास बांध पर ले जाया गया। इस दौरान बाढ़ से घिरी एक घायल भैंस का रेस्क्यू कर मलहम पट्टी की गई। इंजेक्शन देने की कवायद के दौरान भैंस भाग खड़ी हुई। संयुक्त टीम ने सरयू किनारे सरसंडा गांव में भी मॉकड्रिल किया।

रामनगर Barabanki के एमओआईसी डाॅ. हेमंत कुमार गुप्ता व डाॅ. वीपी सिंह दोनों का इलाज करते हैं।

गांव के शान मोहम्मद व मुख्तार को नदी के किनारे कम पानी में ले जाया गया। प्रधान प्रतिनिधि की सूचना पर कंट्रोल रूम व बाढ़ चौकी हरकत में आ जाती है। एसडीआरएफ के जवान स्टीमर से नदी में जाकर दोनों युवकों को बचाते हैं। अस्पताल बनाए गए सरसंडा के पंचायत भवन में रामनगर के एमओआईसी डाॅ. हेमंत कुमार गुप्ता व डाॅ. वीपी सिंह दोनों का इलाज करते हैं। मॉकड्रिल करीब चार घंटे तक चला। बाढ़ प्रभावित इलाके में सांप के डसने के बाद जान कैसे बचाई जाए, इसका भी मॉकड्रिल हुआ।


Leave a comment