GYANVAPI MASJID CASE :-

4.9/5 - (39 votes)

वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर जिला अदालत ने आज बड़ा फैसला सुनाया है

ज्ञानवापी मस्जिद में भी एक ऐसा ही फव्वारा था. हिंदू पक्ष का दावा है कि 1669 में औरंगजैब ने काशी विश्वनाथ मंदिर को तोड़कर वहां पर मस्जिद बनवाई थी. जो मस्जिद वहां पर है वो बाद में मंदिर को तोड़कर बनवाई गई. वहीं मुस्लिम पक्ष का दावा है कि ज्ञानवापी मस्जिद में हमेशा से ही फव्वारा था, जिसने बाद में काम करना बंद कर दिया

GYANVAPI :- अभी तक HC नहीं पहुंचा मुस्लिम पक्ष

Gyanvapi masjid: अभी तक HC नहीं पहुंचा मुस्लिम पक्ष, हिंदू पक्ष दाखिल कर चुका है कैविएट; थोड़ी देर में होगी सुनवाई
इलाहाबाद हाई कोर्ट में मंगलवार को ज्ञानवापी परिसर के एएसआई सर्वे मामले में मुस्लिम पक्ष की तरफ से याचिका दायर किए जाने का इंतजार हो रहा है। हिंदू पक्ष ने कैविएट दाखिल कर रखी है। उसे अभी कोई नोटिस नहीं मिली है। सुप्रीम कोर्ट ने 26 जुलाई की शाम पांच बजे तक सर्वे पर रोक लगा रखी है। इसलिए माना जा रहा है कि आज ही याचिका दायर की जाएगी।

प्रयागराजः इलाहाबाद हाई कोर्ट में मंगलवार को ज्ञानवापी परिसर के एएसआई सर्वे मामले में मुस्लिम पक्ष की तरफ से याचिका दायर किए जाने का इंतजार हो रहा है। हिंदू पक्ष ने कैविएट दाखिल कर रखी है। उसे अभी कोई नोटिस नहीं मिली है।

GYANVAPI NEWS

सुप्रीम कोर्ट ने 26 जुलाई की शाम पांच बजे तक सर्वे पर रोक लगा रखी है। इसलिए माना जा रहा है कि आज ही याचिका दायर की जाएगी।

अंजुमन इंतेजामिया मसाजिद के संयुक्त सचिव सैय्यद मोहम्मद यासीन ने मंगलवार को याचिका दायर करने की बात कही है। इस बीच ज्ञानवापी सर्वे मामले में पहले से लंबित याचिका की सुनवाई दोपहर दो बजे जस्टिस प्रकाश पाडिया करेंगे।

Gyanvapi Case Live: वकीलों संग ज्ञानवापी परिसर के अंदर गई ASI की टीम ने सर्वे किया शुरू, शहर में कड़ी चौकसी

ज्ञानवापी परिसर का सर्वे एएसआई की टीम ने शुरू कर दिया है। शासन ने शहर में हाई अलर्ट जारी किया है। हिंदू पक्ष ने जहां सर्वे में सहयोग की बात कही है वहीं, अंजुमन इंतेजामिया मसाजिद कमेटी ने जिला जज के आदेश के खिलाफ सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई का हवाला देकर सर्वे की तिथि आगे बढ़ाने की मांग रखी है।

Gyanvapi Masjid Case

ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे का काम पूरा हो चुका है. आज इस मामले को लेकर वाराणसी की जिला अदालत (Varanasi High Court) में अहम सुनवाई होने वाली है. मस्जिद से जुडे़ रहस्य को सुलझाने को लेकर तरह-तरह के दावे किए जा रहे हैं. लेकिन ज्ञानवापी मस्जिद (Gyanvapi Masjid) की पहली को लेकर सभी पक्षों के अपने-अपने दावे हैं. लेकिन ज्ञानवापी की पहले सुलझने की बजाय और भी उलझती दिखाई दे रही है.

gyanvapi में शिवलिंग से लेकर स्वास्तिक के निशान मिलने तक चर्चा का विषय बने हुए हैं. ज्ञानवापी को लेकर छिपी पांच पहेलियों को लेकर अलग-अलग पक्षों के द्वारा कई दावें किए जा रहे हैं. हर कोई ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर मचे बवाल के बाद इससे जुड़े रहस्यों के बारे में जानने के लिए उत्सुक है. आइए आपको बताते हैं कि ज्ञानवापी को लेकर पांच अलग-अलग नजरियों के बारे में

1. हिंदू पक्ष का नजरिया

2. मुस्लिम पक्ष पक्ष का नजरिया

ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे के बाद वजूखाना वाले तालाब के पास मिली उस आकृति को लेकर है जिसे हिंदू पक्ष शिवलिंग होने का दावा कर रहा है. लेकिन वहीं मुस्लिम पक्ष के मुताबिक ये एक फव्वारा है. शिवलिंग को लेकर हिंदू पक्ष का कहना है कि तालाब वाली जगह से पानी निकालने के बाद वहां पर एक शिवलिंग के आकार वाली आकृति दिखाई दी. हिंदू पक्ष दावा कर रहा है कि प्रशासनिक अधिकारियों ने जब इसकी सफाई को तो उन्हें वहां पर काले रंग का शिवलिंग सा प्रतीत हुआ है. वहीं मुस्लिम पक्ष का कहना है कि पूरे यूपी में ऐसी कई मस्जिदें हैं जहां पर इस तरह के तालाब मौजूद हैं. ज्ञानवापी मस्जिद में भी एक ऐसा ही फव्वारा था.

हिंदू पक्ष का दावा है कि 1669 में औरंगजैब ने काशी विश्वनाथ मंदिर को तोड़कर वहां पर मस्जिद बनवाई थी. जो मस्जिद वहां पर है वो बाद में मंदिर को तोड़कर बनवाई गई. वहीं मुस्लिम पक्ष का दावा है कि ज्ञानवापी मस्जिद में हमेशा से ही फव्वारा था, जिसने बाद में काम करना बंद कर दिया.

वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर जिला अदालत ने आज बड़ा फैसला सुनाया है. कोर्ट ने मस्जिद परिसर के वैज्ञानिक सर्वे कराने की इजाजत दे दी है. हिंदू पक्ष ने जिला अदालत में याचिका दायर कर मस्जिद परिसर का सर्वे आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (एएसआई) से करवाने की इजाजत मांगी थी


READ MORE:-

Gyanvapi wikipedia

https://www.wikiwand.com


THANK YOU TO VISIT MY WEBSITE

1 thought on “GYANVAPI MASJID CASE :-”

Leave a comment