JYOTI MAURYA NEWS :-

4.6/5 - (135 votes)

अब JYOTI MAURYA की जेठानी शुभ्रा मौर्या ने अपने पति विनोद कुमार मौर्या के खिलाफ दहेज के लिए-

ज्योति मौर्य JYOTI MAURYA के पति आलोक मौर्या ALOK MAURYA की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। अब ज्योति मौर्य JYOTI MAURYA की जेठानी शुभ्रा मौर्या ने अपने पति विनोद कुमार मौर्या के खिलाफ दहेज के लिए उत्पीड़न, मारपीट और हत्या की धमकी देने का मुकदमा दर्ज कराया है। इसमें आलोक मौर्य और उनके पिता को भी नामजद किया गया है। पुलिस जांच में जुट गई है।

ज्योति मौर्य की जेठानी शुभ्रा मौर्य ने भी अपने पति विनोद कुमार समेत अन्य पर मुकदमा दर्ज कराया

एसडीएम ज्योति मौर्य की जेठानी शुभ्रा मौर्य ने भी अपने पति विनोद कुमार समेत अन्य पर मुकदमा दर्ज कराया है। दहेज उत्पीड़न समेत अन्य आरोपाें में उसने धूमनगंज थाने में केस लिखाया है। पुलिस जांच में जुटी है। शुभा मौर्या निवासी देवीनगर हरवारा सदर मीरा पट्टी ने पुलिस को बताया है कि उसका विवाह विनोद से हुआ है जो शादी के समय जीएसटी में स्टेनोग्राफर थे और वर्तमान में प्रयागराज में तैनात हैं।

पांच लाख नगद, पांच लाख के जेवरात, टाटा इंडिका विस्टा कार व सम्पूर्ण गृहस्थी का सामान दहेज के रूप में दिया

आरोप है कि शादी में पांच लाख नगद, पांच लाख के जेवरात, टाटा इंडिका विस्टा कार व सम्पूर्ण गृहस्थी का सामान दहेज के रूप में दिया गया। इसके बावजूद ससुरालीजन ससुर राम मुरारी मौर्या, सास श्रीमती लीलावती मौर्य, जेठ अशोक कुमार मौर्या, जेठानी प्रियंका मौर्या, देवर आलोक कुमार मौर्या आए दिन दहेज के लिए प्रताड़ित करते थे।
गालीगलौज कर मारते पीटते थे। 2015 में वह सहायक अध्यापक बन गई। जब प्रार्थनी की दूसरी बेटी का जन्म हुआ तो पति समेत अन्य आरोपी बेटा न होने पर विवाह विच्छेद की धमकी देने लगे। वेतन का पैसा व एटीएम कार्ड भी छीन लिया। 26 जून को फिर पांच लाख रुपयों की मांग की गई। विरोध पर दो पुत्रियों समेत मारपीट कर घर से बाहर निकाल दिया गया।

10 जुलाई को विनोद अपने भाइयों अशोक व आलोक

10 जुलाई को विनोद अपने भाइयों अशोक व आलोक और कुछ अज्ञात लोगों संग शराब पीकर आए और फ्रिज क्षतिग्रस्त कर दिया। गला दबाया गया तथा बीचबचाव पर उसकी मां से धक्कामुक्की की गई। 11 जुलाई को सुबह पांच बजे घर आकर पति ने पेट्रोल या एसिड डालकर मार डालने की धमकी दी। धूमनगंज पुलिस मुकदमा दर्ज कर जांच में जुटी है।


BARABANKI NEWS

कोरोना काल में जान गंवा चुके सपा नेता को ब्लॉक अध्यक्ष बना दिया।

बाराबंकी। आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर समाजवादी पार्टी जिला स्तरीय पदाधिकारियों के साथ फ्रंटल संगठनों और ब्लॉक स्तर के पदाधिकारियों की घोषणा कर रही है। इसी बीच जिले के पदाधिकारियों ने कोरोना काल में जान गंवा चुके सपा नेता को ब्लॉक अध्यक्ष बना दिया। इसे लेकर अब सोशल मीडिया पर पार्टी की फजीहत हो रही है।

सपा जिलाध्यक्ष ने सूची फेसबुक पर अपलोड कर नवनियुक्त ब्लॉक अध्यक्षों को बधाई भी दी।

सपा जिलाध्यक्ष अयाज अहमद ने दो दिन पहले ब्लॉक अध्यक्षों की सूची जारी की है। इसमें पूरेडलई ब्लॉक का अध्यक्ष खमौली टिकैतनगर के निवासी इंद्रजीत उर्फ रामप्रकाश को बनाया गया हैकोरोना काल में जान गंवा चुके सपा नेता को ब्लॉक अध्यक्ष बना दिया। इ, जबकि इंद्रजीत का निधन कोरोना काल में करीब दो वर्ष पहले हो चुका है। सपा जिलाध्यक्ष ने सूची फेसबुक पर अपलोड कर नवनियुक्त ब्लॉक अध्यक्षों को बधाई भी दी।

रमेश यादव को ब्लॉक अध्यक्ष बनाया गया है।

इस बीच कुछ लोगों ने सपा नेताओं के इस कारनामे पर चुटकी लेनी शुरू कर दी। कई लोगों ने ब्लॉक अध्यक्ष के मोबाइल नंबर पर फोन भी किया, जिस पर उनके भाई रमेश कुमार यादव ने सपा कार्यालय आकर इसकी शिकायत की। जिलाध्यक्ष से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि ऑपरेटर की लापरवाही से पूर्व ब्लॉक अध्यक्ष का नाम गलती से छप गया है। रमेश यादव को ब्लॉक अध्यक्ष बनाया गया है।


Leave a comment