SDM jyoti maurya case:-

5/5 - (20 votes)

SDM jyoti maurya

ज्योति मौर्या JYOTI MAURYA प्रकरण में होमगार्ड कमांडेंट मनीष दुबे पर कार्रवाई को लेकर अधिकारी संशय में है। डीआईजी होमगार्ड की जांच रिपोर्ट से शासन के अधिकारी सहमत नहीं है। रिपोर्ट का परीक्षण जारी है। फिलहाल होमगार्ड कमांडेंट के निलंबन को लेकर निर्णय नहीं हुआ है।

पीसीएस ज्योति मौर्या PCS JYOTI MAURYA प्रकरण में महोबा में तैनात होमगार्ड कमांडेंट मनीष दुबे के खिलाफ सौंपी गई जांच रिपोर्ट का शासन में जारी परीक्षण में तमाम खामियां सामने आ रही हैं। सूत्रों के मुताबिक, इसी वजह से कमांडेंट पर कार्रवाई को लेकर निर्णय नहीं हो पा रहा है। शासन के परीक्षण में जांच रिपोर्ट की खामियों को लेकर विधिक राय लेने की तैयारी है।

हालांकि इस प्रकरण से विभाग की छवि धूमिल होने के आधार पर कमांडेंट पर कार्रवाई की जा सकती है। दरअसल, डीआईजी होमगार्ड प्रयागराज रेंज संतोष कुमार ने होमगार्ड कमांडेंट मनीष दुबे के खिलाफ जांच कर उनको निलंबित करने, विभागीय कार्रवाई शुरू करने और मुकदमा दर्ज कराने की सिफारिश की थी।

उनकी रिपोर्ट को डीजी होमगार्ड ने शासन को भेज दिया था। रिपोर्ट के प्रारंभिक परीक्षण में सामने आया है पीसीएस ज्योति मौर्य JYOTI MAURYA के पति आलोक मौर्य को जान से मारने की साजिश रचने का कोई प्रत्यक्ष प्रमाण का उल्लेख जांच रिपोर्ट में नहीं दिया गया है। जिन सुबूतों का जिक्र किया गया है, उनकी फॉरेंसिक जांच कराने के बाद ही किसी नतीजे पर पहुंचा जा सकता है।

साथ ही, इस मामले में विभाग के बजाय आलोक मौर्य की तरफ से मुकदमा दर्ज होना चाहिए। इसी तरह अमरोहा में तैनाती के दौरान महिला होमगार्ड के साथ छेड़खानी की शिकायत के मामले का पटाक्षेप भी पहले ही हो चुका है। महिला होमगार्ड को दोबारा बहाल भी किया जा चुका है।
एक माह बाद हुआ तलाक का मुकदमा

एक माह बाद हुआ तलाक का मुकदमा SDM JYOTI MAURYA

एक माह बाद हुआ तलाक का मुकदमा
वहीं, दो वर्ष पहले मनीष दुबे से विवाह करने वाली लखनऊ की युवती ने डीआईजी को दिए अपने बयान में दहेज मांगने का आरोप लगाया है। अधिकारियों के मुताबिक विवाह के एक माह बाद ही अदालत में तलाक का मुकदमा दायर कर दिया गया था। लिहाजा, दहेज मांगने के आरोप का अब संज्ञान लेना विधिक रूप से उचित नहीं है।
ज्योति प्रकरण में शिकायत मिली तो कराएंगे जांच: धर्मवीर
उधर, प्रदेश के कारागार व होमगार्ड राज्य मंत्री धर्मवीर प्रजापति ने हाथरस में कहा कि बहुचर्चित ज्योति मौर्या व होमगार्ड कमांडेंट मनीष दुबे के मामले में यदि किसी को जान का खतरा है या फिर कोई आपत्ति है तो वह पुलिस के पास जाकर मुकदमा दर्ज कराए। इसमें होमगार्ड विभाग कुछ नहीं कर सकता है। कोई शिकायत होमगार्ड विभाग को मिलती है तो विभागीय जांच कराई जाएगी।
महिलाएं बोलीं, वीरभूमि को अपवित्र करने के लिए मनीष दुबे महोबा आया
उधर, होमगार्ड कमांडेंट मनीष दुबे का कुछ दिन पहले ही महोबा में ट्रांसफर हो गया। मनीष की तैनाती के बाद गुलाबी गैंग में खासा आक्रोश है। गुलाबी गैंग की महिलाओं का कहना है कि बुंदेलखंड की वीरभूमि को अपवित्र करने के लिए मनीष दुबे यहां आया है। उसे यहां से भगाना जरूरी है।
कहा कि ये मामला सामने आने के बाद से महिलाओं की आजादी पर बंदिशें लग रही हैं। शिक्षा ग्रहण करने गई युवतियों व महिलाओं को बुलाया जा रहा है। यह सही नहीं है। महिलाओं ने पूरे मामले के लिए मनीष दुबे को कसूरवार ठहराते हुए ज्योति मौर्य को भी जिम्मेदार बताया। कहा कि ज्योति व मनीष की वजह से लोग महिलाओं पर विश्वास नहीं कर रहे।
तरह-तरह के गाने, गीत बनाकर महिलाओं की बदनामी की जा रही है। ये सब मनीष दुबे के कारण हो रहा है। मनीष अपनी पत्नी को भी दबाव में लिए है और दूसरे का परिवार भी बर्बाद कर दिया। वहीं ज्योति मौर्य के कारण देश भर की महिलाओं और बहनों को शर्मिंदा होना पड़ रहा है। जिससे गुलाबी गैंग में आक्रोश है।

पति ने होमगार्ड मुख्यालय में दर्ज कराई शिकायत

पति ने होमगार्ड मुख्यालय में दर्ज कराई शिकायत
प्रयागराज के रहने वाले सफाईकर्मी पति आलोक मौर्य से रिश्तों में खटास के बाद पीसीएस अफसर ज्योति मौर्य चर्चा में बनी हैं। आलोक ने होमगार्ड मुख्यालय में शिकायत दर्ज कराई थी कि उनकी पत्नी ज्योति मौर्य का होमगार्ड कमांडेंट मनीष दुबे के साथ अफेयर है।

पीसीएस ज्योति मौर्य JYOTI MAURYA के पति आलोक मौर्य प्रयागराज के निवासी हैं और पंचायतीराज विभाग में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी हैं। शादी के बाद ज्योति मौर्य का पीसीएस में चयन हुआ था। उनके पति ने अपनी शिकायत में कमांडेंट मनीष दुबे पर तमाम गंभीर आरोप लगाए

JYOTI MAURYA मेरे खिलाफ दहेज का झूठा मुकदमा दर्ज कराया’


उसने अपने शिकायती पत्र में कहा कि शादी के बाद उसने अपनी पत्नी को इलाहाबाद में पीसीएस की तैयारी कराई। होमगार्ड कमांडेंट से अफेयर होने के बाद उसने मेरे खिलाफ दहेज का झूठा मुकदमा दर्ज करा दिया। उसने अपनी शिकायत के साथ कुछ दोनों के बीच हुई कुछ व्हाट्सएप चैट और होटल में ठहरने की जानकारी भी दी।

अब मामले में कमांडेंट मनीष के निलंबन और केस दर्ज कर जांच की सिफारिश की गई है। डीजी होमगार्ड ने आरोपी कमांडेंट पर कार्रवाई के लिए शासन को रिपोर्ट भेजी है। पत्नी को दहेज के लिए प्रताड़ित और महिला होमगार्ड का यौन शोषण करने का भी आरोप है।


Leave a comment